HomeMP NewsChhindwara: चालू लाइन में पोल पर चढ़कर सुधार रहा था फॉल्ट, करंट...

Chhindwara: चालू लाइन में पोल पर चढ़कर सुधार रहा था फॉल्ट, करंट लगने से एमपीईबी हेल्पर की मौत

- Advertisement -
- Advertisement -

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में पोल पर चढ़कर लाइन सुधार रहे कर्मचारी की करंट लगने से मौत हो गई। देर तक शव खंभे पर लटका रहा। मामले में एमपीईबी की लापरवाही सामने आई है। चालू लाइन में ही कर्मचारी को पोल पर चढ़ा दिया। परिजनों ने मामले की जांच की मांग की है, साथ ही जो भी कलंकी हो उस पर कार्रवाई की मांग की है। 

जानकारी के अनुसार मामला छिंदवाड़ा जिले के अमरवाड़ा ब्लॉक के ग्राम गुटेरा का है। अध्यापकवार दोपहर दो बजे गांव में लाइन में कुछ फाल्ट हो गया है। जिसे अमृतरने के लिए एमपीईबी में आउटसोर्स के रूप में व्यवसाय करने वाले ठेकेदार के कर्मचारी 32 वर्षीय संतोष ताराम पोल पर चढ़ा था। उसने ग्ल्बस पहने थे। लेकिन उसे करंट लग गया अन्य वो वहीं लाइन से चिपक गया। मौके पर उसकी मौत हो गई। 

नीचे खड़े लोगों ने देखा तो शोर मचाया अन्य कंपनी के अलग। लोगों को सूचना दी। काफी देर तक शव वहीं लटका रहा। बाद में टीम पहुंची अन्य लाइन बंद कर उसे नीते उतारा।  हादसे के बाद म़ृतक के परिजनों ने इस मामले की उचित जांच की बात कही है। उन्होंने सवाल उठाया कि कर्मचारी को ऊपर चढ़ाने से पहले लाइन क्यों बंद नहीं की। साथ ही सुरक्षा के उचित संसाधन क्यों उपलब्ध नहीं कराए गए। 

 

विस्तार

मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में पोल पर चढ़कर लाइन सुधार रहे कर्मचारी की करंट लगने से मौत हो गई। देर तक शव खंभे पर लटका रहा। मामले में एमपीईबी की लापरवाही सामने आई है। चालू लाइन में ही कर्मचारी को पोल पर चढ़ा दिया। परिजनों ने मामले की जांच की मांग की है, साथ ही जो भी कलंकी हो उस पर कार्रवाई की मांग की है। 

जानकारी के अनुसार मामला छिंदवाड़ा जिले के अमरवाड़ा ब्लॉक के ग्राम गुटेरा का है। अध्यापकवार दोपहर दो बजे गांव में लाइन में कुछ फाल्ट हो गया है। जिसे अमृतरने के लिए एमपीईबी में आउटसोर्स के रूप में व्यवसाय करने वाले ठेकेदार के कर्मचारी 32 वर्षीय संतोष ताराम पोल पर चढ़ा था। उसने ग्ल्बस पहने थे। लेकिन उसे करंट लग गया अन्य वो वहीं लाइन से चिपक गया। मौके पर उसकी मौत हो गई। 

नीचे खड़े लोगों ने देखा तो शोर मचाया अन्य कंपनी के अलग। लोगों को सूचना दी। काफी देर तक शव वहीं लटका रहा। बाद में टीम पहुंची अन्य लाइन बंद कर उसे नीते उतारा।  हादसे के बाद म़ृतक के परिजनों ने इस मामले की उचित जांच की बात कही है। उन्होंने सवाल उठाया कि कर्मचारी को ऊपर चढ़ाने से पहले लाइन क्यों बंद नहीं की। साथ ही सुरक्षा के उचित संसाधन क्यों उपलब्ध नहीं कराए गए। 

 

original post link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments