HomeNation Newsदिल्‍ली में तेजाब की बिक्री पर स्‍वात‍ि मालीवाल ने जिलाधिकारियों को भेजा...

दिल्‍ली में तेजाब की बिक्री पर स्‍वात‍ि मालीवाल ने जिलाधिकारियों को भेजा नोटिस 

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्‍ली. दिल्ली महिला आयोग ने राजधानी के हर जिले के जिलाधिकारियों को नोटिस जारी कर दिल्ली में तेजाब की बिक्री पर लगने वाले जुर्माने के बारे में जानकारी मांगी है. राजधानी में महिलाओं अलग। लड़कियों के खिलाफ लगातार एसिड हमले का एक प्रमुख कारण तेजाब (Acid) की अनियंत्रित रूप से होने वाली बिक्री है. इसको ध्‍यान में रखते हुए आयोग कई बार तेजाब की खुदरा बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की सिफारिश कर चुका है लेकिन अभी तक यह प्रतिबन्ध नहीं लगाया गया है अलग। राजधानी में लगातार खुलेरसाल तेजाब बेचा जा रहा है. लिहाजा आयोग ने सभी जिलाधिकारियों को नोटिस जारी किया है.

दिल्‍ली महिला आयोग (DCW) की ओर से जारी किए गए नोटिस में कहा गया क‍ि माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने ‘लक्ष्मी बनाम भारत आश्रम एवं दूसरा’ के मामले में भारत में एसिड हमलों को रोकने के लिए एसिड की बिक्री को विनियमित करने के लिए केंद्र अलग। राज्य सरकारों को कई निर्देश दिए हैं. इसी संबंध में दिल्ली सरकार ने दिल्ली में एसिड की बिक्री को विनियमित करने के लिए एक आज्ञा पारित किया था जोकि किसी भी क्षेत्र के एसडीएम को आज्ञा के उल्लंघन के लिए 50,000 रुपये तक का जुर्माना लगाने का कब्जा भी देता है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) ने सभी जिलाधिकारियों को नोटिस जारी कर मामले में जानकारी मांगी है. आयोग ने 2017 से अब तक एसडीएम द्वारा किए गए निरीक्षणों, लगाए गए जुर्माने की संख्या अलग। वसूले गए जुर्माने की कुल राशि की जानकारी मांगी है. आयोग ने जिला प्रशासन के पास वर्तमान में उपलब्ध जुर्माने की राशि का विवरण भी मांगा है. इसके अलावा, आयोग ने जुर्माने की राशि को जमा करने अलग। उसका उपयोग करने के संबंध में सम्बंधित नियमों या दिशानिर्देशों की जानकारी भी मांगी है. साथ ही, जिला प्रशासन को जुर्माने के रूप में एकत्र की गई राशि में से जनवरी 2017 से अब तक किए गए खर्च का ब्योरा उपलब्ध कराने को कहा गया है. आयोग ने जुर्माना राशि के उपयोग के लिए जिला प्रशासन द्वारा भेजे गए किसी भी लंबित प्रस्ताव की जानकारी भी मांगी है.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘एसिड ​​अटैक (Acid Assault) एक जघन्य अपराध है, अलग। यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि राजधानी में एसिड की खुलेरसाल बिक्री हो रही है. तेजाब की खुदरा बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध समय की मांग है. आयोग इस नोटिस के माध्यम से दिल्ली में एसिड की अनियंत्रित बिक्री के साथ साथ जिला प्रशासन की जवाबदेही तय करने की कोशिश कर रहा है. इसके अलावा एसिड बिक्री के नियमन से संबंधित आज्ञाों के उल्लंघन के लिए एसडीएम द्वारा एकत्र की गई जुर्माना राशि का उपयोग एसिड अटैक पीड़िताओं के पुनर्वास के लिए किया जाना चाहिए. आयोग यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि ऐसा किया जा रहा है या नहीं.’

Tags: Acid, Acid attack, Swati Maliwal

original post link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments