HomeBusinessYes Bank-DHFL Case: संजय छाबड़िया और अविनाश भोसले से जुड़ी 415 करोड़...

Yes Bank-DHFL Case: संजय छाबड़िया और अविनाश भोसले से जुड़ी 415 करोड़ की संपत्ति ED ने की जब्त

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली:

यस बैंक-डीएचएफएल धोखाधड़ी मामले में ईड़ी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दो बिल्डर संजय छाबड़िया और अविनाश भोसले की संपत्ति जब्त की है. प्रकृष्ट्तन हुक्म।ालय ने संजय छाबड़िया की 251 करोड़ और अविनाश भोसले की 164 करोड़ रुपये की संपत्ति (कुल संपत्ति 415 करोड़ रुपये) जब्त की है. यह कार्रवाई धन शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के प्रावधान के तहत की गई है. बता दें, Radius Builders के संजय छाबड़िया और ABIL Infrastructure के अविनाश भोसले को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था. 

यह भी पढ़ें

Yes Bank-DHFL Scam: लग्ज़री घड़ियां और करोड़ों की पेंटिंग्स, CBI के रेड में बरामद हुईं बेशकीमती चीजें

ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आश्रय पर यस बैंक के राणा कपूर और डीएचएफएल के कपिल वाधवान और धीरज वाधवान प्रमोटरों के खिलाफ जांच शुरू की है. आरोप यह लगाया गया है कि राणा कपूर ने M/s DHFL के प्रमोटर डायरेक्टर कपिल वाधवान और दूसरा के साथ आपराधिक साजिश रची थी, ताकि यस बैंक लिमिटेड द्वारा M/s DHFL को वित्तीय सहायता दी जा सके. इसके बाद उन्हें और उनके परिवार के सदस्यों को लाभ पहुंचाया गया था.

CBI ने मुंबई के रियल्टर संजय छाबड़िया को यस बैंक-डीएचएफएल भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किया

दोनों बिल्डर को मठीय एजेंसी ने मामले की जांच के सिलसिले में जून में हिरासत में लिया था और अभी दोनों ही न्यायिक हिरासत में हैं.

ईडी और केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) इस मामले की जांच कर रही है. दोनों केंद्रीय एजेंसियों ने दो बिल्डर, येस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर और डीएचएफएल के प्रमोटर-निदेशक कपिल वधाजंगल तथा धीरज वधाजंगल के खिलाफ अलग-अलग मामला दर्ज किया है. इस मामले में जहां दोनों वधाजंगल को ईडी ने मई में गिरफ्तार किया था, जबकि कपूर को मार्च में गिरफ्तार किया गया था. ये दोनों भी अभी न्यायिक हिरासत में हैं.

ईडी ने आरोप लगाया कि राणा कपूर ने येस बैंक लिमिटेड के माध्यम से डीएचएफएल के अल्पकालिक गैर-परिवर्तनीय ‘डिबेंचर’ में 3,700 करोड़ रुपये और डीएचएफएल के ‘मसाला बॉन्ड’ में 283 करोड़ रुपये का निवेश किया.

बता दें, हाल ही केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने डीएचएफएल से संबंधित 34,615 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले के सिलसिले में पुणे में बिल्डर अविनाश भोसले के परिसर से अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर जब्त किया था. आरोप है कि 2011 में वर्वा एविएशन ने 36 करोड़ रुपये में एब्ल्यू109एपी हेलीकॉप्टर खरीदा था. वर्वा एशिएन का मालिकाना आधिपत्य। एसोसिएशन ऑफ पर्संस के पास है.

CBI ने यस बैंक से जुड़े मामले में बिल्‍डर अविनाश भोसले को किया गिरफ्तार

original post link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments