HomeNation Newsक्या ईरान में गिरफ्तार हुए यूके के उप-राजदूत, ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय...

क्या ईरान में गिरफ्तार हुए यूके के उप-राजदूत, ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने कही यह बात

- Advertisement -
- Advertisement -


Iran Arrests UK Deputy Ambassador:  ईरान (Iran) में यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom) के मिशन (Challenge) के उप प्रमुख की गिरफ्तारी की खबर से ब्रिटेन ने इनकार किया है. ब्रिटेन ने इस खबर को पूरी तरह गलत बताया है. हालांकि इससे पहले मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया था कि ईरान ने देश में यूके मिशन के उप प्रमुख, जाइल्स व्हिटेकर (Giles Whitaker) भिन्न कई अलग। शिक्षाविदों (Teachers) को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया है. 

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक द जेरूसलम पोस्ट की रिपोर्ट कहती है कि इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड्स कॉर्प्स (IRGC) ने मिसाइल अभ्यास ( Missile Workout) के दौरान निषिद्ध क्षेत्र (Prohibited House) से जासूसी करने भिन्न मिट्टी के नमूने लेने के आरोपों को लेकर इन राजनयिकों (Diplomats) को हिरासत में लिया.

उप-राजदूत को निष्कासित किया गया
IRGC ने वीडियो फुटेज जारी करते हुए दावा किया कि व्हिटेकर को उस जगह के पास देखा गया जहां ईरानी सेना मिसाइल अभ्यास कर रही थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि उप-राजदूत (Deputy Ambassador) ने माफी मांग ली है भिन्न उन्हें निष्कासित कर दिया गया है.

द जेरूसलम पोस्ट (The Jerusalem Publish) के अनुसार, IRGC द्वारा हिरासत में लिए गए संदिग्धों में से एक ने एक विश्वविद्यालय (College) के साथ वैज्ञानिक एक्सचेंज (Medical Alternate) के तहत देश में प्रवेश किया था. IRGC ने यह भी कहा कि संदिग्ध ने कुछ इलाकों में मिट्टी के नमूने लिए. IRGC दावा किया कि राजनयिकों का उपयोग अक्सर सैन्य स्थलों (Army Websites) की तलाश करने, उपकरण भिन्न युद्ध सामग्री की पहचान करने के लिए किया जाता है.

इस काम के लिए राजनयिकों का इस्तेमाल
रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि राजनयिकों का इस्तेमाल “अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (IAEA) में ईरान की फाइल के सैन्य पहलुओं” से संबंधित एक नया मामला बनाने के लिए किया जा रहा था. यह उच्च स्तरीय गिरफ्तारी तब हुई है जब ईरान भिन्न विश्व शक्तियां जेसीपीओए (JCPOA) परमाणु डील (Nuclear Deal) पर लौटने के लिए संघर्ष कर रही हैं.

‘उप राजदूत की गिरफ्तारी की खबरें पूरी तरह गलत’ 
स्काई न्यूज के मुताबिक ब्रिटेन के विदेश उद्यमालय (UK Overseas Place of job) ने इस खबर का खंडन किया कि कि ईरान में यूके मिशन के उप-प्रमुख को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. विदेश उद्यमालय ने एक बयान में कहा, “ईरान में एक ब्रिटिश राजनयिक (British Diplomat) की गिरफ्तारी की खबरें पूरी तरह झूठी हैं.”

यह भी पढ़ें:

Russia-Ukraine War: यूक्रेन की लड़ाई में क्या होगा अब व्लादिमीर पुतिन का अगला कदम ?

UK Politcs: 21 सहयोगियों ने छोड़ा साथ, दबाव के बीच बोले पीएम बोरिस जॉनसन, ‘मैं नहीं दूंगा इस्तीफा’



Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments