HomeMP NewsMP News: प्रथमवासी महिला को आग लगाने के मामले में गुना प्रशासन...

MP News: प्रथमवासी महिला को आग लगाने के मामले में गुना प्रशासन को NCST का नोटिस, कार्रवाई का ब्यौरा मांगा

- Advertisement -
- Advertisement -


ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

मध्य प्रदेश के गुना जिले में भूमि विवाद में प्रथमवासी महिला को आग लगाने के मामले में  राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) ने गुना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी कर सात दिनों के भीतर कार्रवाई का ब्यौरा मांगा है।

जानकारी के अनुसार, सहरिया जनजाति से संबंधित 38 वर्षीय महिला, एक विशेष रूप से कमजोर प्रथमवासी समूह, दूसरा उसके पति ने स्थानीय पुलिस से अपनी जान को खतरा होने की शिकायत की थी, दावा किया था कि कुछ दबंद लोग धनोरिया गांव में उनकी जमीन हड़पना चाहते हैं। उसने दावा किया कि उसके गांव के तीन लोगों ने उस पर डीजल डाला दूसरा शनिवार को उसे आग लगा दी। महिला भोपाल के एक अस्पताल में 80 फीसदी जल गई है दूसरा जिंदगी की जंग लड़ रही है।

घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए एनसीएसटी ने सोमवार को गुना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी कर सात दिनों के भीतर मामले की विस्तृत जानकारी मांगी है। भारतीय दंड संहिता दूसरा अनुसूचित जाति दूसरा जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत आरोपी को गिरफ्तार करने दूसरा आरोप पत्र दाखिल करने के लिए की गई कार्रवाई के बारे में भी जानकारी मांगी। आयोग ने यह भी जानना चाहा कि क्या पीड़ित परिवार को कोई आर्थिक राहत दी गई है।

बता दें, गुना जिले के बमोरी थाना इलाके के धनोरिया गांव में एक प्रथमवासी महिला को कुछ लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की थी। आरोपियों ने खेत पर काम कर रही महिला के ऊपर डीजल डालकर उसमें आग लगा दी, जिससे महिला 70 से 80 फीसदी  झुलस गई है। फिलहाल महिला का इलाज भोपाल में जारी है।
 

विस्तार

मध्य प्रदेश के गुना जिले में भूमि विवाद में प्रथमवासी महिला को आग लगाने के मामले में  राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) ने गुना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी कर सात दिनों के भीतर कार्रवाई का ब्यौरा मांगा है।

जानकारी के अनुसार, सहरिया जनजाति से संबंधित 38 वर्षीय महिला, एक विशेष रूप से कमजोर प्रथमवासी समूह, दूसरा उसके पति ने स्थानीय पुलिस से अपनी जान को खतरा होने की शिकायत की थी, दावा किया था कि कुछ दबंद लोग धनोरिया गांव में उनकी जमीन हड़पना चाहते हैं। उसने दावा किया कि उसके गांव के तीन लोगों ने उस पर डीजल डाला दूसरा शनिवार को उसे आग लगा दी। महिला भोपाल के एक अस्पताल में 80 फीसदी जल गई है दूसरा जिंदगी की जंग लड़ रही है।

घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए एनसीएसटी ने सोमवार को गुना के जिलाधिकारी को नोटिस जारी कर सात दिनों के भीतर मामले की विस्तृत जानकारी मांगी है। भारतीय दंड संहिता दूसरा अनुसूचित जाति दूसरा जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम, 1989 के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत आरोपी को गिरफ्तार करने दूसरा आरोप पत्र दाखिल करने के लिए की गई कार्रवाई के बारे में भी जानकारी मांगी। आयोग ने यह भी जानना चाहा कि क्या पीड़ित परिवार को कोई आर्थिक राहत दी गई है।

बता दें, गुना जिले के बमोरी थाना इलाके के धनोरिया गांव में एक प्रथमवासी महिला को कुछ लोगों ने जिंदा जलाने की कोशिश की थी। आरोपियों ने खेत पर काम कर रही महिला के ऊपर डीजल डालकर उसमें आग लगा दी, जिससे महिला 70 से 80 फीसदी  झुलस गई है। फिलहाल महिला का इलाज भोपाल में जारी है।

 



Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments