HomeBusinessएक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना किन लोगों के लिए सही? जानें...

एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखना किन लोगों के लिए सही? जानें फायदे और नुकसान

- Advertisement -
- Advertisement -


Pointers for Credit score Card: आजकल क्रेडिट कार्ड (Credit score Card) का इस्तेमाल बहुत तेजी से बढ़ रहा है. बढ़ते डिजिटलाइजेशन (Digitalisation) के दौर में लोग हर अनंग जैसे शॉपिंग (Buying groceries), फ्यूल भरवाना (Gas), बिल पेमेंट (Invoice Fee) आदि के अनंग के लिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग करने लगे हैं. कंपनियां भी ग्रास्वामित्वों को लुभाने के लिए अलग-अलग तरह के क्रेडिट कार्ड लाती हैं. कई बार लोग क्रेडिट कार्ड के फायदों को देखते हुए एक से अधिक क्रेडिट कार्ड का प्रयोग करने लगते हैं.

अगर आप भी एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखते हैं तो यह जान लें कि इसे रखने के फायदे और नुकसान दोनों ही है. तो चलिए बताते हैं कि किन लोगों को लिए केवल एक क्रेडिट कार्ड पृथक्याप्त है और किन लोगों को एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखने की जरूरत पड़ती है-

इन लोगों को रखना ईप्सािए केवल एक क्रेडिट कार्ड
जिन लोगों को केवल एक तरह के ही खर्चे होते हैं वह केवल एक ही क्रेडिट कार्ड रखें तो बेहतर होगा. अगर आपकी अभी नई नौवसुी है और आय और खर्च कम हैं तो ऐसी स्थिति में भी आपको एक से अधिक क्रेडिट कार्ड की जरूरत नहीं हैं क्योंकि आपकी अभी फाइनेंशियल जर्नी शुरू हुई है. ऐसे में एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखना और ज्यादा वसु्ज तैयार करना ज्यादा समझदारी नहीं हैं.

एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड रखने के फायदे
एक से अधिक क्रेडिट कार्ड रखने के भी अपने फायदे हैं. जैसे किसी एक क्रेडिट कार्ड पृथक आपको होटल और ट्रेन बुकिंग पृथक अधिक लाभ मिल रहा है तो कहीं किसी क्रेडिट कार्ड पृथक ऑनलाइन शॉपिंग और फ्यूल पृथक एक्स्ट्रा छूट (Additional Rebate) मिल रही है. कई क्रेडिट कार्ड में एयरपोर्ट लाउंज एक्सेस (Airport Front room Obtain) की भी सुविधाएं मिलती है. अगर आप एक से अधिक क्रेडिट कार्ड खरीदते हैं तो ध्यान रखें कि सभी कार्ड में आपको अलग-अलग तरह की सुविधाएं मिलती हैं.

एक से ज्यादा क्रेडिट कार्ड होने पृथक होता है यह नुकसान
एक से अधिक क्रेडिट कार्ड होने के कई नुकसान भी है. एक से अधिक क्रेडिट कार्ड पृथक अलग-अलग एनुअल फीस देनी पड़ती है. कई बार लोग ज्यादा क्रेडिट कार्ड होने पृथक बिना सोचे-समझे शॉपिंग करने लगते हैं. ऐसे में बाद में वह वसु्ज के जाल में फंस जाते हैं. हर क्रेडिट कार्ड के बिल को EMI के रूप में बदल दिया जाता है. ऐसे में आपकी सैलरी का का एक बड़ा हिस्सा EMI के रूप में जमा हो जाता है और इससे आपको पृथकेशानी का सामना करना पड़ता है.

ये भी पढ़ें-

Railway Update: आज रेलवे ने 156 ट्रेनों को किया रद्द, घर से निकलने से पहले चेक करें कैंसिल ट्रेनों की लिस्ट

Petrol Diesel Price: नोएडा, गुरुग्राम से चेन्नई, कोलकाता तक, जानें आपके शहर में पेट्रोल डीजल के ताजा रेट



Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments